Please join, like or share our Vanipedia Facebook Group
Go to Vaniquotes | Go to Vanisource | Go to Vanimedia


Vanipedia - the essence of Vedic knowledge

HI/670209b प्रवचन - श्रील प्रभुपाद सैन फ्रांसिस्को में अपनी अमृतवाणी व्यक्त करते हैं

From Vanipedia

HI/Hindi - श्रील प्रभुपाद की अमृत वाणी
उद्देश्य यह है कि जो बुद्धिमान हैं, वे अपने आध्यात्मिक गुरु से संदेश लेते हैं - जो कुछ भी गुरु कहते हैं - उनको उस विशेष आदेश को बिना किसी विचलन के पूरा करना होगा । वो उसे पूरी तरह से उत्तम बनाएगा । अलग-अलग शिष्यों के लिए अलग-अलग आदेश हो सकते हैं, लेकिन एक शिष्य को अपने आध्यात्मिक गुरु के आदेश को अपने जीवन के रूप में लेना चाहिए: "यह आदेश दिया गया है, इसलिए मुझे बिना किसी विचलन के इसे निभाना है ।" वह उसे सिद्ध बनाएगा ।
670209 - प्रवचन चै.च. आदि ७.७७-८१ - सैन फ्रांसिस्को