Please join, like or share our Vanipedia Facebook Group
Go to Vaniquotes | Go to Vanisource | Go to Vanimedia


Vanipedia - the essence of Vedic knowledge

HI/701104 बातचीत - श्रील प्रभुपाद बॉम्बे में अपनी अमृतवाणी व्यक्त करते हैं

From Vanipedia

HI/Hindi - श्रील प्रभुपाद की अमृत वाणी
भगवान कृष्ण व्यक्तिगत रूप से कहते हैं कि "आप केवल मेरे प्रति आत्म-समर्पण करो ।" अब तक कितने लोगों ने आत्मसमर्पण किया है ? भगवान कृष्ण भगवद गीता में कहते हैं कि "आप सब कुछ त्याग कर मेरे प्रति आत्मसमर्पण करो ।" (भ.गी. १८.६६) तो कितनो ने ऐसा किया है ? तो यह एक भद्दा सवाल है, "अगर हर कोई आत्मसमर्पण करेगा, तो दुनिया का क्या होगा ?" लेकिन ऐसा कभी नहीं होगा । आत्मसमर्पण करना बहुत मुश्किल है जो वह नहीं जानता । (Hindi) यह उम्मीद नहीं की जाती कि हर कोई साधु बन जाएगा । साधु बनना इतना आसान काम नहीं है, खासकर साधु का शुद्ध स्वभाव ।
701104 - बातचीत - बॉम्बे