Please join, like or share our Vanipedia Facebook Group
Go to Vaniquotes | Go to Vanisource | Go to Vanimedia


Vanipedia - the essence of Vedic knowledge

HI/680521 प्रवचन - श्रील प्रभुपाद बॉस्टन में अपनी अमृतवाणी व्यक्त करते हैं

From Vanipedia

HI/Hindi - श्रील प्रभुपाद की अमृत वाणी
तो वैदिक सभ्यता के अनुसार स्त्री के लिए विवाह बहुत अनिवार्य है । वैदिक स्मृति के अनुसार स्त्री की स्वतंत्रता की अनुमति नहीं दी जाती है । स्मृति का अर्थ है नियम, वैदिक नियम । नारी को पिता की देखरेख में होना चाहिए, जब तक वह विवाहित न हो, और उसकी युवा अवस्था में उचित पति की देखरेख में होनी चाहिए, और वृद्धावस्था में सयाने बच्चों की देखभाल में होनी चाहिए ।
680521 - प्रवचन दीक्षा - बॉस्टन